सहारा ने दिया खुशखबरी निवेशकों का अब होगा भुगतान शुरू Sahara India Sebi News Today

Sahara India Sebi News Today

Sahara India Sebi News Today

सहारा इंडिया में फंसे हुए पैसे को लेकर है अभी हाल ही में सहारा प्रबंधन की ओर से पत्र जारी किया गया था और उस पत्र में स्पष्ट किया गया था कि जितने भी निवेशक है उन सभी को उनका भुगतान दिया जाएगा प्रबंधन के तरफ से बस उसमें थोड़ी सी देरी हो रही है यहां पर बहुत सारे निवेशक है जिनका कहना था प्रबंधन के तरफ से ऐसी कोई भी जानकारी नहीं है प्रबंधन किसी का भुगतान नहीं कर रहा तो जितने लोग मान रहे हैं –

हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए
यहां से जॉइन करें

उनका उनके लिए अच्छी बात है और बहुत से नहीं मान रहे हैं – आप और भी न्यूज़ देख सकते हैं क्या आपको कुछ अच्छी खबर निकल कर आ जाएगी जितने लोग मान रहे हैं| जितने लोग इस पोस्ट को फॉलो कर रहे हैं-उनको एक खबर देना चाहता हूं कि प्रबंधन ने यह स्पष्ट किया है कि जितने भी निवेशक पैसे प्राप्त करना चाहते हैं जिनका मैच्योरिटी हो चुका है उनका भुगतान आज भी किया जा रहा है बल्कि किया जा रहा है बल्कि प्रबंधन की मजबूरी है कि उनके भुगतान में देरी हो रही है|

प्रबंधन को भी उसी समय में भुगतान करना उनकी भी मजबूरी है। यहां पर एक निवेशक है वह कैसे अपने भुगतान को प्राप्त कर सकें और एक ऐसे निवेशक सिर्फ इंतजार में बैठे हैं कि हमारा भुगतान कब होगा इसी विषय पर आज हम इस पोस्ट में विस्तार रूप से बताने वाले हैं।

अभी पढ़े : सहारा मालिक सुब्रत राय ने बताया निवेशक इस तरह से निकाल सकते हैं अपना मच्योरिटी का बड़ी खुशखबरी Sahara India Today News Latest

Sahara Today News Latest

अगर आप एक निवेशक हो और अब अपने पैसे को प्राप्त करना चाहते हो तो इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक पूरा पढ़ें।

सबसे पहले बात करें तो दिल्ली हाई कोर्ट ने यह स्पष्ट किया था जितने भी कोऑपरेटिव सोसाइटी में पैसे निवेश हो रखे हैं जो कि 12 करोड़ से ज्यादा निवेशकों के पैसे लगे हैं उन्होंने सबसे पहले सहारा के नाम पर निवेश किया और उनके कन्वर्जन के माध्यम से उनके जो फील्ड एजेंट है उन्हें धोखा धोखाधड़ी के माध्यम से उनके पैसे को धीरे धीरे ज्यादा ब्याज के लालच में अलग-अलग स्कीमों में लगाया गया और अंत तक ज्यादातर लोग को भी लग रहा है कि –

अभी पढ़े : सहारा निवेशको को बड़ी खुशखबरी मिली, पैसा मिलना हुआ शुरू Sahara India Updates News

उनका पैसा सहारा इंडिया में लगे हैं पर एक बात समझ सकते हैं सहारा में उसी से रिलेटेड सोसाइटी मैं आपके पैसे लगे हैं जिन सोसाइटी की जिम्मेदारी प्रबंधन नहीं लेता है। अगर आप कोर्ट में अपील भी करोगे तो सहारा के खिलाफ है तो आप पैसे को सहारा में नहीं बल्कि एजेंट के माध्यम से अलग-अलग सोसाइटी में लगाया जाता है क्योंकि प्रबंधन के तरफ से आपके पैसे को नहीं लगाया गया था एजेंट के माध्यम से आपके पैसे लगाए गए थे।

सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़

यहां पर सबसे जो एक ठेठ भाषा में बोलते हैं पैसे निकालना यहां पर बहुत सारे लोग जिनका एजेंट है जो आसपास में रहते हैं उनसे जबरन भी पैसे निकाले गए क्योंकि जिम्मेदारी बनती है कि आपने जहां पैसे लगवाए हैं उनसे उनका पैसा लौटा कर दीजिए क्योंकि निवेशक यह नहीं जानता था कि कहां पैसे लगा रहा है एजेंट के माध्यम से उन्होंने पैसे लगाए थे तो यह एजेंट की जिम्मेदारी बनती है कि निवेशकों के पैसे वापस कराए|

अभी पढ़े : सरकार की ओर से बड़ी खबर निवेशको की भुगतान की प्रक्रिया हो गई शुरु जल्दी से देखे मच्योरिटी पेपर में अपना सहारा के कंपनी का नाम Sahara Latest Updates Today

बहुत जगह क्षेत्रों में खासकर बिहार में देखने को मिला कि वहां के लोकल पब्लिक ने जब एजेंट को पकड़ा तो एजेंट ने अपनी निजी संपत्ति को बेच कर निवेशकों के पैसे दिए और दूसरा तरीका जो कानूनन है और हर बार बताया जाता है आप कुछ दिनों का इंतजार कीजिए उसके बाद आप का भुगतान कर दिया जाएगा आखिर यह इंतजार कितने समय का है कमेंट कर बता सकते हैं अगर आपको पता हो तो ऐसी ही सहारा इंडिया से जुड़ी जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए व्हाट्सएप ग्रुप और साथ में टेलीग्राम चैनल को जॉइन करें ताकि आगे की जानकारी आपको मिलती रहे।

हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए
यहां से जॉइन करें

sahara india news, sahara update news today, sahara india money refunds, sahara india latest news, sahara india today news, sahara india suprime court news, sahara india high court news, sahara india money refunds, sahara india update news today, sahara refunds, sahara money returns, shara india, sahara india ki sunwai kab hogi.

Note : यह खबर इन्टरनेट के माध्यम से ली गयी है इसलिए यह वेबसाइट prabhatbhaskar.com किसी भी प्रकार के कोई जिम्मेदार नही होगी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *